शनिवार, 1 फ़रवरी 2020

क्या धार्मिक शिक्षा जरूरी है?

शिक्षा हमारे जीवन में अत्यन्त आवश्यक है, लेकिन शिक्षा ही काफी है क्या हमारे लिए? शिक्षा के साथ अगर धर्म भी मिल जाए तो इस दुनिया में कोई भी पाप और अत्याचार करने से डरेगा, |धर्म की शिक्षा हर एक घर -परिवार में होनी चाहिए |हर माता-पिता अपने बच्चों को बचपन से ही धर्म की शिक्षा दे जिससे उनमें बड़ों का मान-सम्मान, भगवान में श्रद्धा का भाव उत्पन्न हो |उनमें सदगुणों का विकास हो और पाप का डर हो |अच्छे कर्मों की तरफ उनका ध्यान जाये जिससे समाज में सदभाव का मार्ग प्रशस्त हो |                                                               अगर आप सब मुझ से सहमत हो तो मुझे जरूर बताना |
 प्रणाम 
अन्नपूर्णा शर्मा

English Translation 
Education is very important in our life, but is education enough for us?  If religion is also combined with education, then no one in this world will be afraid of committing sins and atrocities. Religion should be taught in every household. Every parent should teach their children religion from childhood so that they  Respect for elders, reverence in God arises. They should develop virtues and fear of sin. They should pay attention to good deeds, which will lead to harmony in society.  If you all agree with me, then definitely tell me.
Greetings 
Annapoorna Sharma

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

If you want to know more about Indian Culture. Please let me know.

अर्जुन को युद्ध से भय क्यों लग रहा था ?

 श्री कृष्ण और अर्जुन दोनों परम मित्र हैं ।अर्जुन कृष्ण से कहते हैं कि हे गोविंद !हमें राज्य सुख अथवा इस जीवन से क्या लाभ ! क्योंकि जिन सारे...